in

कॅरियर में खुद को दें चुनौतियां तो ही होंगे कामयाब

कॅरियर के दौरान कई बार ऐसी स्थिति हो जाती है कि आप आगे नहीं बढ़ पाते हैं और कॅरियर के जिस मोड़ पर मौजूद हैं, वहीं स्थिर होकर रह जाते हैं। आपको खुद को समझना और यह पता करना जरूरी है कि कहीं आप भी कॅरियर में ठहर तो नहीं गए हैं। आपको खुद को चुनौती देनी होगी। तभी आप खुद को उपयोगी बनाए रख सकते हैं। जानते हैं इसके खास तरीके के बारे में-

किताबों से करें दोस्ती तो हर कदम मिलेगी कामयाबी

ऐसे करें स्टार्टअप की प्लानिंग तो मिलेगी कामयाबी

परिणाम के लिए कोशिश
क्या ऑफिस में आप जो परिणाम देते हैं, उनको प्राप्त करने के लिए प्रयास करने पड़ते हैं? प्रयास गुजारे जाने वाला समय नहीं है, बल्कि यह वह अतिरिक्त मानसिक शक्ति है जो आप समस्याओं को सुलझाने के लिए इस्तमाल करते हैं। अगर अतिरिक्त प्रयासों के बारे में सचेत नहीं हैं तो शायद काम से जुड़ाव नहीं रखते हैं और कम्फर्ट जोन में हैं। इसलिए खुद के लिए बड़े लक्ष्यों की तलाश करें।

सीखने में ज्यादा समय
स्कूल से लेकर आपकी यात्रा की दो हिस्से रहे हैं- एजुकेशन और एग्जीक्यूशन। आप फॉर्मल ट्रेनिंग में या जॉब के दौरान नई स्किल्स सीखते हैं। आप अपने अनुभव और स्किल्स से वैल्यू डिलीवर करने का प्रयास करते हैं। आप अपने मौजूदा समय का कितना हिस्सा सीखने के लिए खर्च करते हैं? यदि यह 50 प्रतिशत से कम है तो इस बात की आशंका है कि बदलते हुए जमाने में गैरजरूरी भी हो सकते हैं। सीखना शुरू करें।

प्रतिक्रिया की पहल करें
पिछले महीने आपने कितना समय किसी सिचुएशन, ट्रिगर या प्रोजेक्ट के बारे में अच्छा रेस्पॉन्स देने में खर्च किया? जिन प्रोजेक्ट्स और आइडियाज के बारे में पहल की थी, उनके बारे में कितना समय खर्च किया। रिस्पॉन्स रेश्यो जितना ज्यादा होता है, कॅरियर में उतनी ही तेजी से आगे बढ़ पाते हैं।

असुरक्षा से आराम तक
क्या आपको डर लगता है कि नौकरी से निकाल दिया जाएगा? क्या प्रोजेक्ट के फेल होने की चिंता लगी रहती है? आपका उत्तर नहीं है तो आप सुरक्षित स्थिति में हैं और आपका कॅरियर स्थिर हो चुका है। आपकी असुरक्षाओं का ईमानदार और गहरा विश्लेषण करें। इसी के आधार पर आप अपने प्रयासों की दर को बढ़ा सकते हैं।

Read More