in

NEET UG 2022: आज जंतर मंतर पर JEE मेन, CUET, NEET के लिए छात्रों का विरोध प्रदर्शन, जानें पूरा मामला

छात्र राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (एनटीए) से नीट यूजी 2022 में दूसरे प्रयास और जेईई मेन 2022 में तीसरे प्रयास के लिए लगातार मांग कर रहे है। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के बाद आज दिल्ली के जंतर मंतर पर भी छात्र विरोध प्रदर्शन करने जा रहे है। संभावना जताई जा रही है कि आज बड़ी संख्या में दिल्ली के जंतर मंतर पर छात्रों के एकत्रित हो सकते है। बता दें कि जेईई मेन और एनईईटी के उम्मीदवार लगातार ऑनलाइन अभियान चला रहे हैं। एनटीए से दोनों प्रवेश परीक्षाओं के लिए एक और सत्र आयोजित करने का आग्रह कर रहे हैं।

 

जंतर मंतर पर शांतिपूर्ण प्रदर्शन
छात्र कार्यकर्ता पवन भड़ाना ने नई दिल्ली के डीसीपी को इस संबंध में पत्र लिखा है। उन्होंने 17 अगस्त यानी आज जेईई मेन्स, एनईईटी और सीयूईटी के लिए जंतर मंतर पर विरोध प्रदर्शन की अनुमति मांगी है। आज 10 बजे से जंतर मंतर पर शांतिपूर्ण धरना प्रदर्शन किया जा रहा है।
इस बीच, यूजीसी ने एनईईटी यूजी और जेईई मुख्य परीक्षाओं को कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट सीयूईटी में मर्ज करने का प्रस्ताव भेजा है। इसके तहत सभी जेईई एनईईटी और सीयूईटी के लिए साल में दो बार सीबीटी मोड में केवल एक प्रवेश परीक्षा होगी।

यह भी पढ़ें- फेज-4 का सीयूईटी एडमिट कार्ड जारी, cuet.samarth.ac.in से करें डाउनलोड

छात्र क्या कर रहे है मांग
आपको बता दें कि एनईईटी के उम्मीदवार परीक्षा में अनियमितताओं और एनईईटी पेपर में गड़बड़ी का हवाला दे रहे है। इसके साथ ही फिर से नीट की मांग कर रहे हैं। कुछ छात्र चाहते हैं कि एनटीए अपने स्कोर में सुधार के लिए मेडिकल प्रवेश परीक्षा के लिए फिर से परीक्षा आयोजित हो। तकनीकी समस्याओं का हवाला देते हुए इंजीनियरिंग के उम्मीदवार जेईई मेन के लिए तीसरे प्रयास की मांग कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें- Agniveer Recruitment 2022 : महिला अग्निवीर भर्ती के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू

परीक्षा में इनरवियर हटाने और टेक्निकल समस्याएं
बता दें कि हाल ही में एनटीए द्वारा आयोजित परीक्षाओं को लेकर कई घटनाएं सामने आईं हैं। केरल की परीक्षा हॉल में प्रवेश करने से पहले छात्रा के इनरवियर को हटाने की घटना भी शामिल है। वहीं जेईई मेन 2022 के उम्मीदवार के भी कई ऐसे केस सामने आए हैं जहां वो टेक्निकल समस्यों से जूझना पड़ा।

Read More